Love Shayari in Hindi 💖💕 1000+ Best Love Shayari 2020

Love is a beautiful creation of God and Love Shayari brings out the inner feelings and emotions of a person. Love needs to express and convey the feelings of the heart. Love Shayari in Hindi is an effective way of expressing feelings of love. To express love with their lover, people express their feelings through Love Shayari.

If you are looking for a love poem like true love Shayari in Hindi, new love status for WhatsApp DP or Love Shayari wallpaper and want to share it with your friends, then you are on the right site because we have the latest collection of Shayari for love We are making best love Shayari in Hindi, latest love Shayari in English, Hindi love Shayari, two-line love Shayari for girlfriend, love sessions and love status.

Here on this page, we have a large collection of beautiful Love Shayari in Hindi and English with pictures and amazing quotes for WA and FB status. Read this Shayari about love in both Hindi and English languages.

I hope you liked this Love Shayari in Hindi Collection. Shayari is a type of stave, which enables a person to express their deepest feelings from the base of the heart through words.

Love Shayari in Hindi with images

love shayari in hindi

नज़रे करम मुझ पर इतना न कर,
की तेरी मोहब्बत के लिए बागी हो जाऊं,
मुझे इतना न पिला इश्क़-ए-जाम की,
मैं इश्क़ के जहर का आदि हो जाऊं।

Love Shayari in Hindi 💖💕 1000+ Best Love Shayari 2020

तू चाँद मैं सितारा होता,
आसमान में एक आशिया हमारा होता।
लोग तुझे दूर से देखा करते और
सिर्फ पास रहने का हक हमारा होता।

Love Shayari in Hindi 💖💕 1000+ Best Love Shayari 2020

जब खामोश आँखों से बात होती है,
तो ऐसे ही मोहब्बत की शुरुआत होती है,
तेरे ही ख्यालों में खोये रहते हैं,
न जाने कब दिन और कब रात होती है।

Love Shayari in Hindi 💖💕 1000+ Best Love Shayari 2020

मोहब्बत कभी किसी की इजाज़त की मोहताज नहीं,
ये हमेशा से होती चली आई है,
और हमेशा होती रहेगी।

Love Shayari in Hindi 💖💕 1000+ Best Love Shayari 2020

आपकी परछाई हमारे दिल में है,
आपकी यादें हमारी आँखों में हैं,
आपको हम भुलाएं भी कैसे,
आपकी मोहब्बत हमारी सांसो में हैं।

Love Shayari in Hindi 💖💕 1000+ Best Love Shayari 2020

4-line Love Shayari in Hindi 💕💕

चाहत हुई किसी से तो फिर बेइन्तेहाँ हुई,

चाहा तो चाहतों की हद से गुजर गए,

हमने खुदा से कुछ भी न माँगा मगर उसे,

माँगा तो सिसकियों की भी हद से गुजर गये।

कुछ ख़ास जानना है तो प्यार कर के देखो,

अपनी आँखों में किसी को उतार कर के देखो,

चोट उनको लगेगी आँसू तुम्हें आ जायेंगे,

ये एहसास जानना है तो दिल हार कर के देखो।

न जाहिर हुई तुमसे और न ही बयान हुई हमसे,

बस सुलझी हुई आँखो में उलझी रही मोहब्बत।

लोगों ने रोज ही नया कुछ माँगा खुदा से,

एक हम ही हैं जो तेरे ख्याल से आगे न गये।

संभाले नहीं संभलता है दिल,

मोहब्बत की तपिश से न जला,

इश्क तलबगार है तेरा चला आ,

अब ज़माने का बहाना न बना।

ज़िन्दगी से यही गिला है मुझे,

तू बहुत देर से मिला है मुझे,

तू मोहब्बत से कोई चाल तो चल,

हार जाने का हौसला है मुझे।

ये लकीरें ये नसीब ये किस्मत,

सब फ़रेब के आईनें हैं,

हाथों में तेरा हाथ होने से ही,

मुकम्मल ज़िंदगी के मायने हैं।

हसरतें मचल गई जब,

तुमको सोचा एक पल के लिए,

सोचो तब क्या होगा जब,

मिलोगे मुझे उम्र भर के लिए।

मोहब्बत नाम है जिसका वो ऐसी क़ैद है यारों,

कि उम्रें बीत जाती हैं सजा पूरी नहीं होती।

वो रख ले कहीं अपने पास हमें कैद करके,

काश कि हमसे कोई ऐसा गुनाह हो जाये।

Best Love Shayari in Hindi with emoji

#तू तोड़ 😥 दे वो #कसम ✔ जो तूने खाई है,

कभी 💑 कभी #याद 🙌 करने में क्या #बुराई है,

तुझे #याद किये #बिना ?? रहा भी तो नही जाता,

तूने #दिल में जगह जो ऐसी ? बनाई है।

#जिंदगी 😥 में कोई 💕 #प्यार से प्यारा नही #मिलता,

#जिंदगी 💚 में कोई #प्यार से प्यारा नही #मिलता,

जो है #पास आपके उसको #सम्भाल 💑 कर रखना,

क्योंकि ✔ एक बार 💖खोकर 💕 प्यार दोबारा ✔नही मिलता।???

#hashtag Love Shayari in Hindi for Facebook, Twitter and more platform

#हमे फिर सुहाना नज़ारा मिला है,

क्योंकि जिंदगी में साथ तुम्हारा #मिला है,

अब जिंदगी में कोई ख्वाइश नही रही,

क्योंकि हमे अब तुम्हारी बाहों का #सहारा मिला है।

#हर पल #मोहब्बत करने का वादा है आपसे,

हर पल साथ निभाने का #वादा है आपसे,

कभी ये मत समझ न #हम आपको भूल जायेंगे,

जिंदगी भर साथ चलने का #वादा है आपसे।

अब न हम तुझे #खोएंगे ,

अब न तेरी #याद में #रोयेंगे,

अब तो बस #हम यही कहेंगे,

अब तो बस #तेरे साथ में रहेंगे।

हम आपसे दूर है तो कुछ #गम नही

#दूर रह कर भी #भूलने बाले हम नही,

दूर रह कर #मुलाकात नही हो पाती तो क्या हुआ,

तेरी #यादे भी किसी मुलाकात से कम नही।

कभी कभी न का मतलब #इंकार नही होता,

कभी कभी हर #नकामयाबी का मतलब #हार नही होता,

अरे क्या हुआ तू हमारे #साथ नही,

क्यों कि हर #वक्त ⌚⏰ साथ रहने का मतलब #प्यार नही होता।

बहुत खूबसूरत है ये #आँखे तुम्हारी,

इन्हें बना दो #चाहत हमारी,

हम नही मांगते #दुनिया की खुशियाँ,

जो #तुम बन जाओ मोहब्बत हमारी।

”हर वक्त ⌚ मुस्कुराना #फिदरत हैं #हमारी ,

आप यूँ ही #खुश रहे हसरत हैं #हमारी,

आपको हम #याद आये या ना आये,

आपको #याद करना आदत हैं #हमारी.”

”ख्वाबो में #मेरे आप #रोज आते हो,

कभी #दर्द , कभी #खुशियाँ दे जाते हो,

कितना #प्यार करते हो आप मुझ से,

#शिर्फ़ मेरे इस #सवाल का जबाब टाल जाते हो.”

”उल्फत की #जंजीर से डर लगता हैं,

कुछ #अपनी ही #तकदीर से डर लगता हैं,

जो #जुदा करते हैं, #किसी को किसी से,

#हाथ की बस उसी #लकीर से डर लगता हैं.”

उसकी #याद हमें बेचैन बना जाती हैं,

हर #जगह हमें उसकी #सूरत नज़र आती हैं,

कैसा #हाल किया हैं मेरा आपके #प्यार ने,

नींद भी आती हैं तो #आँखे बुरा मान जाती हैं.

हमारी गलतियों से कही #टूट न जाना,

#हमारी शरारत से कही #रूठ न जाना,

तुम्हारी #चाहत ही हमारी #जिंदगी हैं,

इस #प्यारे से बंधन को #भूल न जाना.

”हम वो नहीं की #भूल जाया करते हैं,

#हम वो नहीं जो #निभाया करते हैं,

#दूर रहकर #मिलना सायद #मुस्किल हो,

पर #याद करके #सांसो में बस जाया करते हैं.”

Four-Line Fresh Love Shayari in Hindi 💖

कब वो ज़ाहिर होगा और हैरान कर देगा मुझे,
जितनी भी मुश्किल में हूँ आसान कर देगा मुझे,
रूबरू करके कभी अपने महकते सुर्ख होंठ,
एक दो पल के लिए गुलदान कर देगा मुझे।

निगाहें जब मिली उनसे तभी दिल हार बैठा हूँ,
मैं उसपे वारने सब कुछ लिये तैयार बैठा हूँ,
अगर इक बार कह दे वो कि आ जाओ मेरे दिल में,
मैं दुनियाभर की रस्मों को भुलाने को भी बैठा हूँ।

तेज बारिश में कभी सर्द हवाओं में रहा,
एक तेरा ज़िक्र था जो मेरी सदाओं में रहा,
कितने लोगों से मेरे गहरे रिश्ते थे मगर,
तेरा चेहरा ही सिर्फ मेरी दुआओं में रहा।

बेताब सा रहने की आदत सी पड़ गई,
दिल में उनके प्यार की खुशबू बिखर गई,
आँखों से गुजरे थे वो एक ख्वाब की तरह,
उनकी हसीं सूरत मेरे दिल में उतर गई।

मोहब्बत की ये इप्तिदा चाहता है,
मेरा इश्क तुझसे वफ़ा चाहता है,
ये आँखों के दरिया नशीले-नशीले,
इन आँखों में दिल डूबना चाहता है।

उसे रूठ जाने की आदत पड़ी है,
मनाता हूँ फिर रूठना चाहता है,
उसे चीर कर मैं दिखाऊं तो कैसे,
ये दिल उसको बेइंतेहा चाहता है।

अब किससे कहें और कौन सुने जो हाल तुम्हारे बाद हुआ,
इस दिल की झील सी आँखों में एक ख़्वाब बहुत बर्बाद हुआ,
यह हिज्र-हवा भी दुश्मन है उस नाम के सारे रंगों की,
वो नाम जो मेरे होंठों पर खुशबू की तरह आबाद हुआ।

होने लगीं दुआएं मुकम्मल मेरी,
आदत हुईं हैं मेरी अदाएं तेरी,
आँखों ही आँखों से वो दिल के पास होने लगे,
जो थे कल तक अनजाने अब ख़ास होने लगे।

वो एक अजनबी है मगर रूह सनास लगता है,
मेरी तरह मुझे वो भी उदास लगता है,
करूँ तलाश तो हो शक वजूद पर उसके,
जो आँखें बंद करूँ तो आस-पास लगता है।

तू मोहब्बत नहीं इबादत है मेरी,
तू जरुरत नहीं जीने की आदत है मेरी,
बन गया हूँ तेरी यादों का कैदी,
अब तो बस तू ही जमानत है मेरी।

हम तुमसे दूर कैसे रह पाते,
दिल से तुमको कैसे भुला पाते,
काश तुम आईने में बसे होते,
खुद को देखते तो तुम नजर आते।

हर अल्फाज़ में एहसास लिखा जाता है,
यहाँ पर पानी को प्यास लिखा जाता है,
मेरे जज्बात से वाकिफ है मेरी कलम भी,
प्यार लिखूं तो तेरा नाम लिखा जाता है।

खुशबू की शुरुआत बहार से होती है,
दिन की शुरुआत तेरे दीदार से होती है,
हमे इंतज़ार है तेरा सदा का क्यूंकि,
प्यार की शुरुआत इजहार से होती है।

ज़िक्र करता है दिल सुबह शाम तेरा,
गिरते हैं आँसू बनता है नाम तेरा,
किसी और को क्यों देखे ये आँखें,
जब दिल पे लिखा सिर्फ नाम तेरा।

इतनी शिद्दत से मुझको न देखा करो,
लुट ना जाए कहीं मेरी दीवानगी,
सनम ऐसे पत्थर न पूजा करो,
मिल न जाए उसे भी कहीं जिंदगी।

तुमसे कुछ कहूँ तो कह न सकूँगा,
दूर तुमसे रहूँ तो रह न सकूँगा,
अब बेचैनी दिल की बढ़ रही है,
अब तुम्हें देखे बिना रह न सकूँगा।

आदत बदल दूँ कैसे तेरे इंतज़ार की,
ये बात अब नहीं मेरे इख़्तियार की,
देखा नहीं तुझको फिर भी याद कर लिया,
ऐसी बसी है खुशबू दिल में तेरे प्यार की।

चाँद को अपनी निगाहों में उतारो तो सही,
हम चले आयेंगे दिल से पुकारो तो सही,
दिल की दहलीज मोहब्बत से सजा रखी है,
थोड़ा सा वक़्त हमारे साथ गुजारो तो सही।

ऐ काश कि कोई ऐसा वक़्त भी आये,
तू मेरे करीब… हमसफ़र हमख्याल हो,
मेरी जुस्तजू बन के रहे हो हर कदम,
अब मेरे संग मेरी ज़िंदगी बन के रहो।

मैं चाहता हूँ मैं तेरी हर साँस में मिलूँ,
परछाईयों में, धूप में, बरसात में मिलूँ।

कोई खुदा के दर पे मुझे ढूंढ़ता फिरे,
मैं भी किसी को प्यार की सौगात में मिलूँ।

तड़पे हजारों दिल मगर हासिल न मैं हुआ,
तू चाहता है मैं तुझे यूँ ही खैरात में मिलूँ।

दिल में कुछ अरमान जगे आँखों में नज़ारे हैं,
गर्दिश में सितारे हैं पर आशिक़ हम तुम्हारे हैं,
नींदों ने हड़ताल करी और यादों का हंगामा है,
जगी हुई हैं आँखें पर इनमें ख्वाब तुम्हारे हैं।

कह देना चाँद उनसे वो हमें बेवफ़ा न समझे,
आँखों से दूर हैं मगर दिल से जुदा न समझे,
भरा है दिल मोहब्बत से मगर मजबूर रहते हैं,
मोहब्बत कम न कर देना कि इतनी दूर रहते हैं।

तेरे प्यार में दो पल की ज़िन्दगी बहुत है,
एक पल की हँसी और एक पल की ख़ुशी बहुत है,
ये दुनिया मुझे जाने या न जाने,
तेरी आँखें मुझे पहचाने मेरे लिए यही बहुत है।

ऊपर से गुस्सा दिल से प्यार करते हो,
नज़रें चुराते हो दिल बेक़रार करते हो,
लाख़ छुपाओ दुनिया से मुझको ख़बर है,
तुम मुझे ख़ुद से भी ज्यादा प्यार करते हो।

कभी तुझको पाने की चाह,
कभी तेरे इंतज़ार का लुत्फ़,
कभी तेरी याद की परवाह,
कभी खामोश सा तकल्लुफ।

दिल की धड़कन को दिखाया नहीं जाता,
मोहब्बत की आग को बुझाया नहीं जाता,
लाख जुदाई हो इस प्यार में फिर भी,
ज़िंदगी का पहला प्यार भुलाया नहीं जाता।

प्यार में मिला हर दर्द उपहार होता है,
प्यार वो होता है जिसमें इंतज़ार होता है,
सदियों तक इंतज़ार करते हैं वो लोग,
जिन्हें अपने प्यार पर ऐतबार होता है।

Two-Line Love Shayari in Hindi💕

चले आओ कभी टूटी हुई चूड़ी के टुकड़े से,
वो बचपन की तरह फिर से मोहब्बत नाप लेते हैं।

क्योंकि हम इस रास्ते से किसी को #गुजरने नही देते हैं।

आज भी तेरे कदमो के #निशान रहते हैं,

फिज़ाओं से उलझकर एक हसीं ये राज़ जाना है,
जिसे कहते हैं मोहब्बत वो नशा ही कातिलाना है।

लम्हों में क़ैद कर दे जो सदियों की चाहतें,
हसरत रही कि ऐसा कोई अपना तलबगार हो।

लाजवाब कर देते हैं तेरे खयाल दिल को,
मोहब्बत तुझसे अच्छा तेरा तसव्वुर है।

वो मुझसे इतनी मोहब्बत जताने लगा है,
कभी-कभी तो मुझे खौफ आने लगता है।

तुम्हारी खुशबू से महकती हैं वो ग़ज़ल भी,
जिसमें लिखता हूँ मैं कि तुम्हें भूल गया हूँ।

मेरा रेशा-रेशा मुझमें तेरे होने की गवाही देता है,
क्या कम है कि मुझे हर जगह बस तू ही दिखाई देता है।

उठने लगे हैं अब तो इस बात पे सवाल,
वो मेरी तरफ मुस्कुरा के देखते क्यों हैं।

खुदा जाने मोहब्बत कौन-सी मंजिल को कहते हैं?
न जिसकी इब्तिदा ही है, न जिसकी इंतिहा ही है।

सावन की बूंदों में झलकती है उनकी तस्वीर,
आज फिर भीग बैठे हैं उन्हें पाने की चाहत में।

अपनी मोहब्बत पे इतना भरोसा तो है मुझे,
मेरी वफायें तुझे किसी और का होने न देंगी।

हम अपनी दिलपसंद पनाहों में आ गए,
जब हम सिमट के आपकी बाहों में आ गए

एक शर्त पर खेलूँगा ये प्यार की बाज़ी,
मैं जीतू तो तुझे पाऊँ, और हारूँ तो तेरा हो जाऊ

वो बार बार पूछती है कि क्या है मौहब्बत,
अब क्या बताऊं उसे,
कि उसका पूछना और मेरा न बता पाना ही मौहब्बत है।

आये हो जो आँखों में कुछ देर ठहर जाओ,
एक उम्र गुजरती है एक ख्वाब सजाने में।

ग़ज़ल लिखी हमने उनके होंठों को चूम कर,
वो ज़िद्द कर के बोले… ‘फिर से सुनाओ’।

लोग पूछते हैं की तुम क्यूँ अपनी मोहब्बत का इज़हार नहीं करते,
हमने कहा जो लब्जों में बयां हो जाये,
सिर्फ उतना हम किसी से प्यार नहीं करते।।

Four-Line Love Shayari in Hindi with Attitude feelings💕💖👍

नदी को सागर से मिलने से ना रोको,
बारिस की बूंदों को धरती से मिलने से ना रोको,
जिन्दा रहने के लिए तुमको देखना जरुरी है,
मुझे तुम्हारा दीदार करने से ना रोको।

आँखों में ना हमको ढूंढो सनम,
दिल में हम बस जाएंगे।
तमन्ना है अगर मिलने की तो,
बंद आँखों में भी हम नज़र आएंगे।।

ख़याल आया तो आपका आया,
आँखे बंद की तो ख्वाब आपका आया,
सोचा कि याद क रलूँ खुदा को पल दो पल,
पर होंठ खुले तो नाम आपका आया।

सब कुछ मिला सुकून की दौलत ना मिली,
एक तुझको भूल जाने की मोहलत ना मिली।
करने को बहुत काम थे अपने लिए,
मगर हमको तेरे ख्याल से फुर्सत ना मिली।।

गुलाब की खुशबू भी फीकी लगती है,
कौन सी खूशबू मुझमें बसा गई हो तुम।
जिंदगी है क्या तेरी चाहत के सिवा,
ये कैसा ख्वाब आंखों में दिखा गई हो तुम।।

गम ना कर ज़िंदगी बहुत बड़ी है,
चाहत की महफ़िल तेरे लिए सजी है।
बस एक बार मुस्कुरा कर तो देख,
तक़दीर खुद तुझसे मिलने बाहर खड़ी है।।

यूँ नज़रें वो नीचे किए चले जा रहें हैं,
पास आशिक़ खड़े यूँ परेशाँ हुए जा रहें हैं।
कोई कहता है ज़ालिम अपनी नज़र तो उठा,
हम तेरे रूख का दीदार करने को मरे जा रहें हैं।।

खुदा से भी पहले तेरा नाम लिया है मैंने,
क्या पता तुझे कितना याद किया है मैंने,
काश सुन सके तू धड़कन मेरी,
हर सांस को तेरे नाम से जिया है मैंने।

खुद को खुद की खबर न लगे,
कोई अच्छा भी इस कदर न लगे।
आपको देखा है उस नजर से,
जिस नजर से आपको नजर न लगे।।

तलाश मेरी थी और भटक रहा था वो,
दिल मेरा था और धडक रहा था वो।
प्यार का ताल्लुक अजीब होता है,
प्यास मेरी थी और सिसक रहा था वो।

मेरा बस चले तो तेरी अदाँए खरीद लुँ,
अपने जीने के वास्ते, तेरी वफाँए खरीद लुँ,
कर सके जो हर वक्त दीदार तेरा,
सब कुछ लुटा के वो निगाँहें खरीद लुँ।

आपके आने से ज़िंदगी कितनी खूबसूरत है,
दिल मे बसी है जो वो आपकी ही सूरत है,
दूर जाना नही हमसे कभी भूलकर भी,
हमे हर कदम पर आपकी ज़रूरत है

वो न आए उनकी याद वफ़ा कर गई,
उनसे मिलने की चाह सुकून तबाह कर गई,
आहट दरवाज़े की हुई तो उठकर देखा,
मज़ाक हमसे हवा कर गई।

छुपा लूंगा तुझे इस तरह से मेरी बाहों में,
हवा भी गुज़रने के लिए इज़ाज़त मांगे।
हो जाऊं तेरे इश्क़ में मदहोश इस तरह,
कि होश भी वापस आने के इज़ाज़त मांगे।।

हमारे आंसूं पोंछ कर वो मुस्कुराते हैं,
उनकी इस अदा से वो दिल को चुराते हैं,
हाथ उनका छू जाये हमारे चेहरे को,
इसी उम्मीद में हम खुद को रुलाते हैं

जो तीर भी आता वो खाली नहीं जाता,
मायूस मेरे दिल से सवाली नहीं जाता,
काँटे ही किया करते हैं फूलों की हिफाज़त,
फूलों को बचाने कोई माली नहीं जाता।

कहीं बेहतर है तेरी अमीरी से मुफलिसी मेरी,
चंद सिक्कों की खातिर तूने क्या नहीं खोया है,
माना नहीं है मखमल का बिछौना मेरे पास,
पर तू ये बता कितनी रातें चैन से सोया है।

हम आपकी हर चीज़ से प्यार कर लेंगे,
आपकी हर बात पर ऐतबार कर लेंगे,
बस एक बार कह दो कि तुम सिर्फ मेरे हो,
हम ज़िन्दगी भर आपका इंतज़ार कर लेंगे।

हमारा ज़िक्र भी अब जुर्म हो गया है वहाँ,
दिनों की बात है महफ़िल की आबरू हम थे,
ख़याल था कि ये पथराव रोक दें चल कर,
जो होश आया तो देखा लहू लहू हम थे।

अब ना मैं हूँ, ना बाकी हैं ज़माने मेरे​,
फिर भी मशहूर हैं शहरों में फ़साने मेरे​,
ज़िन्दगी है तो नए ज़ख्म भी लग जाएंगे​,
अब भी बाकी हैं कई दोस्त पुराने मेरे।

अब ना मैं हूँ, ना बाकी हैं ज़माने मेरे​,
फिर भी मशहूर हैं शहरों में फ़साने मेरे​,
ज़िन्दगी है तो नए ज़ख्म भी लग जाएंगे​,
अब भी बाकी हैं कई दोस्त पुराने मेरे।

दिन की रोशनी ख्वाबों को सजाने में गुजर गई,
रात की नींद बच्चे को सुलाने मे गुजर गई,
जिस घर मे मेरे नाम की तखती भी नहीं,
सारी उमर उस घर को बनाने में गुजर गई।

जब मुझसे मोहब्बत ही नहीं तो रोकते क्यूँ हो?
तन्हाई में मेरे बारे में सोचते क्यूँ हो?
जब मंजिलें ही जुदा हैं तो जाने दो मुझे…
लौट के कब आओगे ये पूछते क्यूँ हो?

देख कर मेरा नसीब मेरी तक़दीर रोने लगी,
लहू के अल्फाज़ देख कर तहरीर रोने लगी,
हिज्र में दीवाने की हालत कुछ ऐसी हुई,
सूरत को देख कर खुद तस्वीर रोने लगी।

तेरे ख्याल से खुद को छुपा के देखा है,
दिल-ओ-नजर को रुला-रुला के देखा है,
तू नहीं तो कुछ भी नहीं है तेरी कसम,
मैंने कुछ पल तुझे भुला के देखा है।

प्रातिक्रिया दे